मास्टर मूवमेंट 2018 के विभिन्न चरण

          इसे समाज के सभी अंगों के आशीर्वाद और सहयोग से 6 चरणों में पूरा किया जायेगा:-

  1.    सभी तरह के सोशल मीडिया (व्हाट्स एप्प, फेसबुक, यू ट्यूब, ट्वीटर आदि), अखबारों और टीवी चैनलों का इस्तेमाल करके इस मिशन के बारे में समाज में जागरूकता फैलाना l
  2.    शुरू में ग्रेटर नोयडा , एनसीआर या दिल्ली के आस पास संस्था खड़ा करना जिससे आवश्यकतानुसार मेम्बर्स के बीच जल्दी जल्दी मीटिंग हो सके l समान विचार वाले अन्य संस्थाओं से मेल मिलाप करना l
  3.    जैसे जैसे समाज का आशीर्वाद मिलेगा, वैसे वैसे राज्यों की राजधानियों में संस्था का विस्तार l
  4.    समाज का और ज्यादा आशीर्वाद मिलने से सभी राज्यों में क्षेत्रीय स्तरों तक संस्था का विस्तार l
  5.    उपर्युक्त सफलता के बाद अपनी मांग मनवाने के लिए शांतिपूर्ण तरीके से धरना, प्रदर्शन, संसद भवन तथा सभी पार्टी प्रमुखों का घेराव l
  6.    मास्टर मूवमेंट 2018 एक गैर राजनितिक आन्दोलन है किन्तु संविधान संशोधन संसद में होना है, अतः जो राजनेता/पार्टी हमारे पांचो विन्दुओं को लिखित में और सार्वजनिक रूप से मानेंगे, उन्हें समर्थन देना l

Phases of Master Movement 2018

          Master Movement 2018 will be accomplished with the help and blessings of all organs of the society in following 6 phases/steps:-

  1.    Spreading social awareness about our mission using all kinds of Social Media (Whats App, Email, Face book, YouTube, Twitter, Instagram etc), Print Media and Electronic Media.
  2.    Creation of an Organization initially involving people around Greater Noida/ NCR/Delhi so that frequent physical meeting is possible. Liaison with organizations of similar nature.
  3.    Expansion of the organization to various state capitals as our movement receives blessings and support of the society
  4.    Expansion of organization to Regional Levels in each state after receiving overwhelming blessings and support.
  5.    After achieving above milestones, peaceful dharana, pradarshan, gherao of parliament and various party presidents to press our demand.
  6.    Master Movement 2018 is a non political movement but constitutional amendments will be done in parliament. Therefore, we will support the parties/ leaders agreeing to our 5 conditions publically and in writing.